Skip to content

मानवाधिकार का नारा बुलंद करने वाले तथाकथित सेक्युलर हिन्दू

April 19, 2013

कृपया पूरा पोस्ट पढ़े और मै अपने सभी राष्ट्रवादी मित्रो से व्यक्तिगत प्रार्थना करता हु की इसे शेयर भी करे
………….
मानवाधिकार का नारा बुलंद करने वाले तथाकथित सेक्युलर हिन्दू , भारत का ही खाने वाले परन्तु वैश्विक मंचो पर अल्पसंख्यक अत्याचार के नाम पर भारत की ही बेइज्ज़ती करने वाले निकृष्ट एवं नमकहराम मुल्ले कहा घुषे बैठे हैं?? भारत के मुसलमानों की करुण गाथा सुनाकर पुरे विश्व से पैसा जुटाने वाले एनजीओ के बादशाह एवं आतंकवादियों , नक्सलवादियो के मानवाधिकार के लिए विधवाविलाप करने वाले कम्युनिस्ट कहाँ मर गए है??
क्या उन्हें पाकिस्तान और बंगलादेश में हिन्दुओ पर हो रहे अत्याचार पर बोलने के लिए दो शब्द भी नहीं मिल रहा है ??
ये नीच मुस्लिम परस्त होते तो एक बार चल भी जाता पर कही ये दुष्ट पाकिस्तान परस्त तो नहीं हैं?? जो पाकिस्तान में हिन्दुओ पर हो रहे अथाह और अनंत कष्ट पर अपना मुह सिले बैठे है..
पाकिस्तान में कष्ट झेल रहे हिन्दुओ की भावाभिव्यक्ति क्या इन नीचो को सुनाई नहीं दे रही है?? शायद हमे पाकिस्तान के हिन्दुओ के कष्ट का भान उनके ही द्वारा दिए गए बयानों से हो जाएगा 
”पाकिस्तान में हिन्दू औरतो का जीवन नरक से भी बुरा है , कोई भी हिन्दू औरत चाहे वो किसी उम्र की हो चाहे हो बच्ची हो या बूढी हो यहाँ सुरक्च्चित नहीं है.
हम लोगो को सरकारी संपत्ति की तरह इस्तेमाल किया जाता है.. बार बार बलात्कार … बलात्कार पर बलात्कार …. कई बार परिवार वालो को सामने बैठकर ये सब किया जाता है … इस तरह के जीवन से अच्छा है मृत्यु …”
यशोदा बैशाखी (४५ वर्ष ) पाकिस्तान 
” हमारे साथ हो रहे अत्याचार जन्म से शुरू हो जाता है और मृत्युपर्यंत चलता रहता है, पढ़ने लिखने का अधिकार नहीं , नौकरी करने का अधिकार नहीं..
अपने धार्मिक मान्यताओं को ,परम्पराओं को पालन करने का अधिकार नहीं ..
और अत्याचार की हद यह है की हमे हिन्दू के रूप में मरने का भी अधिकार नहीं, हमे अपने भाई बन्धुओ के दाह संस्कार तक नहीं करने दिया जाता , जबरदस्ती हमारे अपने लोगो के लाशो को कब्रगाह में दफना दिया जाता है… हमारी बच्चिया १० साल की भी नहीं होती की उनके साथ बलात्कार शुरू हो जाता है और अंत में उनका धर्म परिवर्तित कर दिया जाता है..
हर नया दिन नए तरह के अकल्पनीय अत्याचार लेकर आता है. हम हिन्दू के रूप में जी तो नहीं सके पर हिन्दू के रूप में मरने का अधिकार हमे जरुर मिलाना चाहिए..
धर्मवीर बागड़ी , हैदराबाद ,सिंधप्रांत , पाकिस्तान 
हम लोग पाकिस्तान में जीवन के हर एक पल में मरते रहते है , हर दिन हम लोगो पर एक नया और भयानक कष्ट लेकर आता है , सरकार और आम पाकिस्तानी जनता दोनों हमे परेशान करने के लिए रोज़ नए नए राश्ते खोजते रहते है, अब हम लोगो के पास इन अथाह कष्टों को सहने की और हिम्मत नहीं बची है…
हम लोगो का जीवन तो जैसे तैसे बीत ही गया पर मेरी इच्छा है की हमारे बच्चे शान्ति से अपना जीवन जिए, इसलिए हम लोग १० मार्च (२०१३) को भारत भाग आये. और हमने यह निर्णय कर लिया है की यदि भारत सरकार हमे जबरदस्ती यहाँ से फिर से उस नरक में भेजेगी तो हम वहा जाने के बजाय आत्महत्या कर लेंगे.
महाराज , (७० वर्षीय महिला) पाकिस्तान 
यदि मै अपने तीन दिन के बच्चे के वीजा और पासपोर्ट के चक्कर में पड़ी होती तो मै कभी भी भारत में नहीं आ पाती, ये मेरे लिए अपने चार बच्चो को बचाने का आखिरी मौका था, मौका, मैंने अपने एक बच्चे के कीमत पर चार बच्चे बचा लिए…
भारती ,३८ वर्षीय सिंध प्रांत , पाकिस्तान ( कुम्भ के दौरान बने पासपोर्ट पर अपने तीन दिन के बच्चे को पाकिस्तान छोड़कर अन्य चार बच्चे को लेकर भारत भाग आई) 
एक माँ अपने तीन दिन के बच्चे को किस तरह के परिस्थिति में छोड़कर दुसरे देश आ सकती है यह किसी को बताने या समझाने के जरुरत नहीं है ….
एक वृद्धा किस तरह के परिस्थिति में अपने देश लौटने के बजाय अपने परिवार को आत्महत्या की सलाह दे सकती है यह भी किसी को बताने की जरुरत नहीं है …
एक बाप जो अपने १० साल के बच्ची के इज्ज़त को नहीं बचा पा रहा है उसके कष्ट को भी किसी को समझाने की ज़रूरत नहीं है..
एक भाई को , बाप को , पति को .. अपने ही सामने अपने बहन , बेटी , पत्नी की लुटती इज्ज़त देखकर कैसा लगता होगा यह भी किसी को बताने की ज़रूरत नहीं है..
लेकिन भारत के नीच , निकृष्ट ,हरामखोर , दोगले सेक्युलरो को इन का कष्ट दिखाई नहीं देता, क्योकि ये सब निकृष्ट मुल्ले नहीं है … भारत के बिकाऊ मीडिया को इन लोगो को कष्ट दिखाने का ज़रा सा भी वक़्त नहीं है , उन्हें संजय दत्त जैसे आतंकवादियो के फिल्मो को पूरा कराने से समय मिले तब तो कुछ इस मुद्दे पर बोले.. 
डॉ भूपेंद्र

Advertisements

From → Uncategorized

Leave a Comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: