Skip to content

randi indra gandhi

April 24, 2013

क्या आप बता सकते हैं कि निम्न तथ्य सच हैं ?

• मैमून बेगम उर्फ इंदिरा गाँधी फिरोज खान वल्द जहाँगीर नवाबखान से निकाह की थी.
• मैमून बेगम उर्फ इंदिरा गाँधी के दोनों पुत्र राजीव खान गाँधी और संजय खान
गाँधी के पिता मुस्लिम ही थे.
• इंटरनेट से प्राप्त जानकारी के अनुसार इनके दोनों पुत्रों का आवश्यक
मुस्लिम संस्कार भी हुआ था.
• फिरोज खान
का मकबरा इस बात का प्रमाण है की इंदिरा गाँधी अपने मुस्लिम संस्कारों को नही त्यागी
• १९७१ की लड़ाई में ९२ हजार से उपर पाकिस्तानी सैनिक बंदी बनाये गए थे जिसे इंदिरा गाँधी ने बिना शर्त छोड़ दिया. वे चाहते तो इसके बदले पाक
अधिकृत कश्मीर का सौदा कर सकती थी. कुछ नही तो बदले में पाकिस्तान
द्वारा बंदी बनाये गए भारतीय सैनिकों को तो रिहा करवा उन्होंने ऐसा कुछ
नही किया.
• जनसंख्या नियंत्रण की नीति के तहत इनके द्वारा चलाये गए नशबंदी अभियान के बारे में तत्कालीन इतिहासकार लिखते है, “हिंदुओं को उनके
घरों, दुकानों यहाँ तक की मंदिरों से भी खिंच खिंच कर नशबंदी किया जाने लगा, परन्तु इस सरकार की कभी हिम्मत नही हुई की वे एक मस्जिद से
किसी मुसलमान को खिंच ले या एक ईसाई को किसी गिरजाघर सेखिंच लें.” इस घटना का जिक्र होने पर बचपन में मेरी बुआ बताई थी की इंदिरा गाँधी
हिंदू और मुसलमान की जनसंख्या बराबर करना चाहती थी.

इंदिरा गाँधी अफगानिस्त बाबर के मजार परसिजदा करने गयी थी
• अरब के प्रिंस ने इंदिरा गाँधी को मक्का आने का निमंत्रणदिया था
जहाँ गैर मुस्लिमों को जाना वर्जित है.
• इंदिरा कहती थी मैं हिंदू से विवाह नहीं करुँगी. मुझे हिंदुओं सेबेहद घृणा है: ओ एम् मुथैया
भारत के लोकतान्त्रिक ढांचे को नष्ट करने के लिए कुख्यात रही इंदिरा की सरकार ने इमरजेंसी के दौरान ४५ वें संशोधन द्वारा जबरन सेकुलर शब्द
जोड़ दिया परन्तु इसे जानबूझकर परिभाषित करने से बचा गया. ९९७८ में
जनता सरकार इसे परिभाषित करने की कोशिश की और लोकसभा में इसे पारित भी करवाया परन्तु राज्यसभा में कांग्रेस ने इसे पारित होने नही दिया. यह इस बात का पक्का प्रमाण है की प्रस्तावना में सेकुलर शब्द गर्हित उद्देश्य
से जोड़ा गया था. इसलिए इसे जानबूझकर अपरिभाषित रखा गया ताकि जब जैसे चाहे, दुरूपयोग किया जा सके और आज इसका दुरूपयोग और दुष्परिणाम आसानी से देखा और समझा जा सकता है. आजसेकुलरिजम मतलब देश हित सर्वोपरी कहनेवाले
मोदी सांप्रदायिक कहे जाते है जबकि हिंदू वीरोध और मुस्लिम परस्ती सेकुलर होने का आवश्यक गुण बन गया है….

Advertisements

From → Uncategorized

Leave a Comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: